iconkvshikar@gmail.com icon01871-267650 icon01871-267626
Kv Logo   KV No1
Rajbasha

केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन)

विद्यालय राजभाषा कार्यान्वयन समिति का गठन

                                                            दिनांक -30/03 /2019

 

शैक्षणिक सत्र 2019 -20  हेतु केन्द्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन) में राजभाषा समिति का पुनर्गठन किया जा रहा है जिसमें निम्नलिखित कर्मचारियों को शामिल किया गया  है |

 

क्र.सं.

पदाधिकारी

पद

पदनाम

हस्ताक्षर

01

श्री अनुज कुमार   

प्राचार्य

अध्यक्ष

 

02.

शंकर लाल माली

स्नातकोत्तर शिक्षक हिंदी

सचिव

 

03.

श्री कल्याण सिंह

स्नातकोत्तर शिक्षक अंग्रेजी

सदस्य

 

04.

श्रीमती  पूर्णिमा वर्मा   

स्नातकोत्तर शिक्षिका संगणक

सदस्य

 

05

श्री आदेश कुमार

पुस्तकालयाध्यक्ष

सदस्य

 

 

 

06

श्री जगदीश टवरानी

प्र.स्नातक शिक्षक संस्कृत

सदस्य

 

07

श्री पुरखाराम पंवार  

प्र.स्नातक  शिक्षक हिन्दी

सदस्य

 

 

 

08.

श्री अमित गुलिया

प्राथमिक शिक्षक

सदस्य

 

09

श्री हेमंत कुमार

प्राथमिक शिक्षक

सदस्य

 

10

सुश्री लता तिवारी   

प्राथमिक शिक्षिका

सदस्य

 

11

श्रीमती इंदरजीत कौर

अप्पर श्रेणी लिपिक

सदस्य

 

    

राजभाषा नियम 1976 के नियम (8 (4) के अनुसार उक्त समिति से अपेक्षा है कि शासकीय प्रयोजनों के लिए हिंदी का प्रयोग अधिकाधिक करेंगे एवं सभी को हिंदी में कार्य करने के लिए प्रेरित करेंगे |

 

 

                                                                            प्राचार्य

                                                   

      

 

                           

                              केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन)

                      हिंदी का प्रयोग करने के लिए 2019-20का वार्षिक कार्यक्रम

                                                                 दिनांक -30/03 /2019

केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन) के समस्त कर्मचारियों को सूचित किया जाता है कि केंद्रीय विद्यालय संगठन द्वारा प्रेषित पत्र के अनुसार राजभाषा प्रयोग से सम्बंधित अद्धोलिखित बिन्दुओं के अनुसार कार्य करना सुनिश्चित करें :-

 

क्र.स

कार्य का विवरण

क’ क्षेत्र

.

हिंदी में मूल पत्राचार(वेतार,टेलेक्स आलेख,आरेख ,ई-मेल आदि

‘क’ क्षेत्र से ‘ख’क्षेत्र को 100%

‘क’ क्षेत्र से ‘ख’क्षेत्र को 100%

‘क’क्षेत्र से ‘ग’क्षेत्र को 100%

‘क’ क्षेत्र से ‘क’ व ‘ख’ क्षेत्र के राज्य/संघ  क्षेत्र को 100% कार्यालय/ व्यक्ति

२.

हिंदी में प्राप्त पत्रों का उत्तर हिन्दी में दिया जाना

100%

३.

हिंदी में सभी टिप्पणी देना

90%

४.

हिंदी में डिक्टेशन व की - बोर्ड पर सीधे टंकन

85%

५.

हिन्दी पुस्तक सी.डी ./डी.वी.डी. सहित हिन्दी पुस्तकों की खरीद पर किया गया व्यय

50%

६ .

कंप्यूटर सहित सभी प्रकार के इलेकट्रोनिक उपकरणों की द्विभाषी रूप से खरीद 

100%

७.

बेबसाईट

100%

८.

राजभाषा सम्बन्धी बैठकें (क) राजभाषा कार्यान्बयन  समिति

वर्ष में बैठके

प्रति तिमाही एक बैठक

 

                                                                                                                

                                                                            

                                                                   प्राचार्य                                                             

 

 

 

                        

                      केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन)

                              कार्यालय आदेश                दिनांक -30/03 /2019

 

   विषय :-विद्यालय स्तर पर राजभाषा से सम्बंधित आदेशों के कार्यपालन के लिए  बनाए  गए जांच बिंदु |

 

     राजभाषा  नियन १९७६ के नियम १२के अनुसार  राजभाषा अधिनियम १९६३ और तत्संबंधी नियमों के

     समुचित अनुपालन के लिए विद्यालय में निम्नलिखित प्रभावी जांच विन्दुओं का निर्धारण किया गया है

 

1.  राजभाषा अधिनियम १९६३ की धारा 3(3) का अनुपालन :-

कार्यवाही :- श्री शंकर लाल माली, स्नातकोत्तर शिक्षक हिन्दी और श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ;अप्पर श्रेणी लिपिक |

 

2.  हिंदी पत्राचार क,ख, और ग क्षेत्रों को भेजे जाने वाले पत्रों वार्षिक राजभाषा वार्षिक कार्यक्रम में निर्धारित लक्ष्य (कम से कम ८५%) के अनुसार हिंदी का प्रयोग करने हेतु :-

कार्यवाही :- श्रीमती पूर्णिमा वर्मा ,स्नातकोतर शिक्षिका  (संगणक ) श्री शंकर लाल माली ,स्नातकोतर शिक्षक (हिंदी) और श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक |

 

3.  कम्पुटर में द्विभाषी व्यस्था स्थापित करने हेतु :-

कार्यवाही:- श्रीमती पूर्णिमा वर्मा स्नातकोतर शिक्षिका (संगणक ) और श्रीमती इन्द्रजीत कौर  अप्पर श्रेणी लिपिक यह सुनिश्चित करें कि सभी कम्पयूटर में यूनिकोड उपलब्ध हों |

 

4.  लिफ़ाफ़े पर पता हिंदी में लिखना :-

कार्यवाही:- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक  |

 

5.  रबर की मोहरें,नाम पट्ट,पात्र शीर्ष  आदि की द्विभाषी व्यवस्था :-

कार्यवाही :- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक |

 

6.  हिंदी में प्राप्त पत्रों का उत्तर हिंदी में देना

कार्यवाही :- श्री श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक और श्री शंकर लाल माली स्नातकोत्तर (हिंदी)

 

7.  विभागीय बैठकों / संगोष्ठियों के कार्य –सूची /कार्यवृत को हिंदी या द्विभाषी रूप से तैयार करना :-

कार्यवाही :- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक और श्री शंकर लाल माली स्नातकोत्तर (हिंदी)

 

8.  हिंदी विज्ञापनों एवं प्रचार –प्रसार कम से कम ६०%व्यय एवं शेष व्यय अन्य भाषाओं पर

कार्यवाही :- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक

 

9.  हिंदी प्रशिक्षण (भाषा टंकण) का रोस्टर तैयार करना और समय-समय पर समीक्षा करना :

कार्यवाही:- श्रीमती पूर्णिमा वर्मा स्नातकोतर शिक्षिका (संगणक ) और श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक

 

10. राजभाषा कार्य समिति की प्रत्येक तिमाही बैठकों का आयोजन करना व अलग रजिस्टर रखना

कार्यवाही:- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  अप्पर श्रेणी लिपिक और श्री शंकर लाल माली स्नातकोत्तर (हिंदी)

 

11. हिंदी पुस्तकों की खरीद पर कम से कम 50% व्यय सुनिश्चित करना

श्री आदेश कुमार  (पुस्तकालयाध्यक्ष) एवं श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक

 

12. पंजिकाओं /फाईलों के द्विभाषी शीर्षक :-

कार्यवाही :- श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक  |

                                                           हस्ताक्षर

1.   श्री शंकर लाल माली, स्नातकोत्तर शिक्षक (हिन्दी)    .......................................     

2.   श्रीमती पूर्णिमा वर्मा स्नातकोतर शिक्षिका संगणक )   .......................................

3.   श्री आदेश कुमार  (पुस्तकालयाध्यक्ष)               .........................................

4.   श्रीमती इन्द्रजीत कौर  ,अप्पर श्रेणी लिपिक  |       .........................................

5.   श्री खजान सिंह  ,  उप कर्मचारी                 .............................................                                                                            

          

                                                              प्राचार्य

 

 

 

 

                       

 

केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन)

राजभाषा हिंदी ( सत्र 2019-20 के वार्षिक कार्यक्रम का विवरण)

                                                                   दिनांक -30/03 /2019

 सत्र 2019 -20 के दौरान केंद्रीय विद्यालय शिकार  में राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम की      शत-प्रतिशत अनुपालना की जाएगी एवं अधोलिखित कार्यक्रम वर्तमान सत्र में संपन्न किए जाएंगे |

1.  क’ तथा ख’ क्षेत्रों से आगत समस्त पत्रों का जवाब शत-प्रतिशत हिंदी भाषा में दिया जाएगा.

2.  कंप्यूटर में द्विभाषी व्यवस्था स्थापित की गई एवं सभी संगणक यंत्रों में यूनिकोड़ इनकोडिंग का प्रयोग किया गया है  |

3.  हिंदी कार्यशालाओं में हिन्दी लेखन अभ्यास पर बल दिया जाएगा एवं यूनिकोड इनकोडिंग ,ई-मेल आदि उपयोग करना भी सिखाया जायेगा |

4.  प्रत्येक तिमाही में हिंदी संगोष्ठी का आयोजन किया जायेगा एवं राजभाषा हिंदी की प्रगति की समीक्षा की जाएगी |

5.  नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (नराकास) की बैठकों में सक्रीय भागीदारी दर्ज होगी |

6.  रबर की मोहरें,नामपट्ट,पत्र शीर्ष आदि की द्विभाषी व्यवस्था स्थापित की गई है  |

7.  विद्यालय (कार्यालय) की समस्त पंजिकाओं ,फाइलों के द्विभाषी शीर्षक की व्यवस्था की गई है

8.  विभागीय बैठकों, संगोष्ठियों की कार्य-सूची कार्यवृत आदि हिंदी भाषा में ही तैयार किए जाएंगे |

9.  प्रार्थना सभा के नियमित कार्यक्रम तीन दिन हिंदी भाषा ,दो दिन आंग्ल-भाषा एवं एक दिन संस्कृत में आयोजित किए जाएंगे|

10.विद्यालय स्तर पर आयोजित पाठ्य सहगामी क्रिया- कलापों के अंतर्गत अधितम कार्यक्रम हिन्दी भाषा में आयोजित किये जाएंगे |

11.  सितम्बर माह हिन्दी पखवाड़े का आयोजन किया जाएगा  जिसके दौरान अनेक कार्यक्रम, गतिविधयां जैसे सुलेख,श्रुतलेख , काव्य-पाठ,कहानी कथन,निबंध लेखन अन्त्याक्षरी आदि कार्यकम आयोजित किए जाएंगे एवं प्रत्येक दिन विद्यालय के शिक्षकों द्वारा हिन्दी भाषा की उपादेयता पर प्रकाश डाला जाएगा |

12. पुस्तकालय में 50% पुस्तकें हिन्दी भाषा में मंगवाने  का लक्ष्य रखा  गया |

13. विद्यालय के समस्त कर्मचारी गण  सभी प्रकार के पत्राचार जैसे आकस्मिक अवकाश,प्रतिपूरक अवकाश, अवैतनिक अवकाश, वैतनिक अवकाश, कार्यभार ग्रहण हेतु प्रार्थना पत्र हिन्दी भाषा में ही प्रस्तुत करेंगे  |

इस प्रकार विद्यालय राजभाषा हिन्दी के उत्तरोतर विकास के लिए पूर्ण  रूपेण संकल्पित हैं

                                                                         

                                                                   प्राचार्य                                                       

                      केंद्रीय विद्यालय शिकार (डीबीएन)

                              कार्यालय आदेश                दिनांक -30/03 /2019

 

विषय : राजभाषा से सम्बंधित आदेशों के कार्यान्वयन के लिए जाँच बिंदु (Check Points)

 

राजभाषा नियम 1976 के नियम 12 के अनुसार राजभाषा अधिनियम 1963 और तत्संबंधी राजभाषा नियमों के समुचित अनुपालन के लिए प्रभावी जाँच बिन्दुओं का निर्धारण किया जाता है | इस नियम के अनुपालन में संगठन (मु.) स्तर पर जो जाँच बिंदु निर्धारित किये गए हैं उनकी जानकारी पुनः इस आशय से प्रेषित है कि सम्बंधित अधिकारी  अथवा  अनुभाग इनका अनुपालन सुनिश्चित करें :-

 

1. राजभाषा अधिनियम 1963 की धारा 3 (3)  में उल्लिखित सभी दस्तावेज अनिवार्य रूप से द्विभाषी रूप में जारी करना :- राजभाषा अधिनियम 1963 की धारा 3 (3)  में उल्लिखित सभी दस्तावेज (सामान्य आदेश, नोटिस, ज्ञापन, परिपत्र, रिपोर्ट, संविदा इत्यादि ) हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में जारी होने अनिवार्य हैं | इसके लिए जो अनुभाग इन दस्तावेजों के प्रेषण का कार्य करता है वह अनुभाग अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि ऐसे सभी प्रकार के दस्तावेज अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी जारी हो रहे हैं अर्थात सम्बंधित अनुभाग अधिकारी को इसके लिए जाँच बिंदु निर्धारित किया जाता है | इन्हें जारी करवाते समय यह भी ध्यान रखा जाये कि हिंदी रूपांतर अंग्रेजी रूपांतर के ऊपर / पहले रहे राजभाषा अधिनियम 1963 की धारा 3 (3) के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने वाले अधिकारी भी कृपया ध्यान रखें कि इस प्रकार के सभी दस्तावेज द्विभाषी रूप में जारी हों |

 

2. राजभाषा नियम 1976   के नियम 8 (4) के तहत बिनिर्दिष्ट अनुभाग एवं अधिकारी / कर्मचारी द्वारा सरकारी कार्य केवल हिंदी में करना :-  इसके लिए संगठन के सम्बंधित सभी अनुभाग एवं अधिकारी / कर्मचारी द्वारा सरकारी कार्य केवल हिंदी में करना: | इसके लिए संगठन के सम्बंधित सभी अनुभाग अधिकारियों को जाँच बिंदु बनाया जाता है कि वे यह सुनिश्चित करें कि राजभाषा नियम 1976   के नियम 8 (4)के तहत बिनिर्दिष्ट किये गए अनुभाग तथा इसी नियम के अंतर्गत बिनिर्दिष्ट कर्मचारी अपना कार्य राजभाषा हिंदी में करें |

                                                                     कार्रवाई: सभी अनुभाग

3.    हिंदी पत्राचार इस हेतु भी सभी अनुभाग अधिकारियों को जाँच बिंदु बनाया जाता है कि वे यह सुनिश्चित करें कि ’ ‘और क्षेत्रों को भेजे जाने वाले पत्रों में राजभाषा द्वारा निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार हिंदी का प्रयोग किया जाये | इसके अतिरिक्त और क्षेत्रों से अंग्रेजी प्राप्त पत्रों के उत्तर भी हिंदी में दें |

कार्रवाई: सभी अनुभाग

4.            कम्पूटरों में द्विभाषी व्यवस्था : संगठन (मु.) के सेवा एवं आपूर्ति अनुभाग अपने यहाँ प्राप्त होने वाली मांग की  जाँच करके यह देखें कि क्या आदेशों का अनुपालन हो रहा है | साथ ही जो अधिकारी इन्हें क्रय करने का आदेश देते हैं वह भी यह देख लें कि आदेशों का अनुपालन हो और सभी कम्पूटरों में द्विभाषी कार्य कि व्यवस्था है | इसके लिए अनुभाग अधिकारी, सेवा एवं आपूर्ति कि जाँच बिंदु बनाया जाता है |

कार्रवाई: सेवा एवं आपूर्ति अनुभाग

 

 

5. लिफाफों पर हिंदी में पते लिखना : इस आशय के लिए सर्वप्रथम पत्र व्यवहार करने वाले अनुभाग को और तत्पश्चात प्रेषण अनुभाग को जाँच बिंदु बनाया जाता है | पत्र प्रेषित करने वाले सम्बंधित अनुभाग अधिकारी सुनिश्चित करें कि एवं क्षेत्रों को भेजे जाने वाले सभी पत्रों / लिफाफों पर पते देवनागरी लिपि में ही लिखें साथ ही प्रेषण अनुभाग भी इसका ध्यान रखें |

कार्रवाई: सभी अनुभाग एवं प्रेषण अनुभाग

 

6. फार्मों, कोडों, मेनुअलों इत्यादि का द्विभाषी प्रकाशन : कार्यालय में प्रयुक्त होने वाले सभी फार्म, कोड, मेनुअल आदि हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषों में होने चाहिए | जो सामग्री दोनों भाषाओं में न हो उसे प्रकाशन विभाग सम्बन्धी अनुभाग को वापिस कर दे और फार्म इत्यादि के मामले में सम्बंधित अनुभाग इन नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करेंगे |

कार्रवाई: सभी अनुभाग एवं प्रकाशन विभाग

 

 7.  रबर की  मुहरें, नाम पट्ट, पत्र शीट्स आदि द्विभाषी रूप में बनाना /  बनवाना : सेवा एवं आपूर्ति अनुभाग के अधिकारी कि यह जिम्मेदारी है कि वह यह सुनिश्चित करें कि राजभाषा नियम   1976 के नियम 11 में उल्लेखित वस्तुएं, जैसे नाम पट्ट, रबर की मुहरें, पत्र शीट्स आदि अनिवार्यतः द्विभाषी रूप से बनवाएं |

कार्रवाई: सेवा एवं आपूर्ति अनुभाग

 

8.  सेवा पुस्तिकाओं में प्रविष्टियाँ :- कार्यालय के प्रयोग में आने वाली सभी सेवा पुस्तिकाओं में प्रविष्टियाँ हिंदी में की जाएँ | इसके लिए जिम्मेदारी सम्बंधित शाखाधिकारी  अर्थात संगठन (मु.) वरिष्ट प्रशासनिक अधिकारी (स्था.-1)व शिक्षा अधिकारी (स्था – 3) को जाँच बिंदु निर्धारित किया जाता है |

 

कार्रवाई: सम्बंधित शाखाधिकारी अनुभाग

 

 9. हिंदी में प्राप्त पत्रों के उत्तर हिंदी में देना : राजभाषा नियम के तहत हिंदी में प्राप्त पत्रों के उत्तर हिंदी में दिए जाने अनिवार्य हैं | इस सम्बन्ध में सभी अनुभाग अधिकारियों को जाँच बिंदु निर्धारित किया जाता है की वह यह देखे की हिंदी में प्राप्त पत्रों के उत्तर हिंदी में ही प्रस्तुत किये भेजे जा रहे हैं | साथ ही जाँच अधिकारी के हस्ताक्षर से कोई पत्रादि जारी होता है, वह भी यह देख ले की यदि पत्रादि हिंदी में प्राप्त हुए हैं तो उनका उत्तर हिंदी में ही दिए जाएँ |

कार्रवाई: सभी अनुभाग अधिकारी एवं सम्बंधित अधिकारी

 

 

10.  विभागीय बैठकों /संगोस्थियों के कार्यवृत/कार्यसूची हिंदी या द्विभाषी रूप में तैयार करना : संगठन (मु.) (क्षेत्र) में विभागीय बैठकों / सम्मेलनों / संगोष्ठियों की कार्यसूची व कार्यवृत नियम अनुसार हिंदी / द्विभाषी रूप में तैयार की जानी चाहिए | इसके लिए सम्बंधित अनुभाग और बैठक के सदस्य सचिव को जाँच बिंदु निर्धारित किया जाता है | अतः सम्बंधित अनुभाग अधिकारी एवं प्रभागीय अधिकारी इसका अनुपालन सुनिश्चित करें |

कार्रवाई: सभी अनुभाग अधिकारी एवं समिति के सदस्य सचिव

 

11.          विज्ञापनों एवं प्रचार प्रसार पर व्यय : समाचार पत्रों / अख़बारों इत्यादि में विज्ञापन एवं अन्य प्रकार से प्रचार प्रसार के लिए सामग्री देने वाले सम्बंधित अनुभाग अधिकारी को जाँच बिंदु निर्धारित किया जाता है | विज्ञापन जारी करने वाले अनुभाग अधिकारी का यह दायित्व है कि वह सुनिश्चित करे कि कोई भी विज्ञापन केवल अंग्रेजी में  न दिया जाये और इन पर होने वाला व्यय कम से कम 50 प्रतिशत हिंदी और शेष 50 प्रतिशत अन्य भारतीय भाषाओँ व अंग्रेजी पर हो |

कार्रवाई: सम्बंधित अनुभाग एवं अधिकारी

 

 

 

12. आतंरिक लेखा परीक्षा निरिक्षण के समय राजभाषा का निरिक्षण और रिपोर्ट देने के सम्बन्ध में : सभी सम्बंधित आतंरिक लेखा परीक्षा टीम के प्रमुख इसके लिए जाँच बिंदु बनाया जाता है कि वह यह सुनिश्चित करें कि सभी आतंरिक लेखा परीक्षा  के दौरान अपनी निरिक्षण टिप्पणियों / रिपोर्ट्स में राजभाषा का प्रयोग सम्बन्धी टिप्प्णी अवश्य दें और अपनी रिपोर्ट हिंदी / द्विभाषी रूप में प्रस्तुत करें |

 

कार्रवाई सम्बंधित सभी लेखा परीक्षा दल

 

  राजभाषा नियम व अधिनियमों की सामान्य जानकारी

1.  राजभाषा अधिनियम 1963 की धारा 3(3)

संस्थान में राजभाषा अधिनियम 1963 की धारा 3(3) के अंतर्गत सभी कार्यालय आदेश, कार्यालय ज्ञापन, परिपत्र, अधिसूचनाएं, टेंडरकरार आदि द्विभाषी रूप में जारी किए जाते हैं।  इसके अतिरिक्‍त  संसद के एक सदन या दोनों सदनों में प्रस्‍तुत किए जाने वाले सरकारी कागज-पत्र, संसद के एक सदन में या दोनों में पस्‍तुत की जाने वाली प्रशासनिक और अन्‍य रिपोर्ट, अपने से उच्‍चतर कार्यालयों को भेजी जाने वाली प्रशासनिक या अन्‍य रिपोर्ट पूर्ण रूप से द्विभाषी रूप में प्रस्‍तुत की जाती हैं।

2.  राजभाषा नियम 1976 के नियम 5

राजभाषा नियम 1976 के नियम 5 के अंतर्गत हिंदी में प्राप्‍त सभी प्रत्रों का उत्‍तर केवल हिंदी में दिया जाता है। इस संबंध में नियम का उल्‍लंघन रोकने में जांच बिंदु स्‍तर पर हिंदी में पत्र प्राप्‍त करने वाले अधिकारियों को ही जांच बिंदु बनाया गया है, जो पूरी तरह प्रभावी है।

3.  राजभाषा नियम 1976 के  नियम 10(4)

संस्‍थान द्वारा राजभाषा नियम 1976 के  नियम 10(4) के अंतर्गत 22 नवम्‍बर 1988 से अधिसूचित करने के लिए पात्रता प्राप्‍त कर ली गई थी ।

4.  राजभाषा नियम 1976 के  नियम 8(4)

संस्‍थान में निदेशक कार्यालय का प्रशासनिक प्रधान होता है तथा राजभाषा नियम 1976 के  नियम 8(4) के अंतर्गत निदेशक महोदय के हस्‍ताक्षर से समय-समय पर प्रवीणता प्राप्‍त अधिकारियों/कर्मचारियों को व्‍यक्तिगत रूप से अपना विनिर्दिष्‍ट कार्य हिंदी में करने के आदेश जारी किए गए हैं।  इसका अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु संबंधित अनुभाग/विभाग अधिकारी को मनोनित किया गया है। 
 
राजभाषा नियम 1976 के  नियम 11

राजभाषा नियम 1976 के  नियम 11 के अंतर्गत संस्‍थान से संबंधित सभी कोड़ मैनुअल आदि द्विभाषी रूप में उपलब्‍ध हैं। इन सभी दस्‍तावेजों को द्विभाषी रूप में विद्यालय की वेबसाइट www.kvdbn.in पर भी देखा जा सकता है जिसे समय-समय अद्यतन किया जाता है।

राजभाषा नियम 1976 के  नियम 11 के अंतर्गत संस्‍थान में सभी अधिकारियों द्वारा प्रयोग की जाने वाली रबड़ की मोहरें, साइन बोर्ड, सीलें पत्र शीर्ष, नाम पट्ट, विजिटिंग कार्ड आदि द्विभाषी रूप में उपलब्‍ध हैं । संस्‍थान द्वारा निर्धारित/प्रयोग में लाए जाने वाले मुद्रित फार्म अर्थात अवकाश आवेदन, भविष्य निधि, चिकित्सा प्रतिपूर्ति बिल, यात्रा रियायत बिल, वाहन व्यय इत्यादि प्रपत्र तथा शिक्षण कार्यक्रमों के दौरान उपयोग किए जाने वाले पंजीकरण प्रपत्र पूरी तरह हिंदी और अंग्रेजी में समान रूप से उपलब्ध हैं ।

5.  राजभाषा नियम 1976 के  नियम 12

संस्‍थान में राजभाषा नियम 1976 के  नियम 12 के अंतर्गत संस्‍थान के प्रशासनिक प्रधान निदेशक महोदय द्वारा राजभाषा संबंधी नियमों के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए विभागीय राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की बैठकों के दौरान सभी अनुभागों के राजभाषा संबंधित कार्यों की समीक्षा की जाती है तथा इस संदर्भ में समय-समय पर आदेश जारी किए जाते हैं।

 नोट : सामान्य जिम्मेदारी :

 राजभाषा अधिनियम और उसके अधीन बनाये गए नियमों के अनुसार जो पत्र / परिपत्र अथवा सरकारी कार्य आदि हिंदी अथवा द्विभाषी रूप में जारी होने चाहिए वे उसी रूप में जारी होते हैं यह देखने कि सामान्य जिम्मेदारी पत्र या प्रलेख पर हस्ताक्षर करने वाले अधिकारी का भी है |  अतः हस्ताक्षर से पूर्व ऐसे अधिकारी अथवा शाखाधिकारी ये सुनिश्चित कर लें कि ऐसे पत्र / प्रलेख आदि नियमानुसार हिंदी में या द्विभाषी रूप में जारी किये जा रहे हैं |

सभी सम्बंधित अधिकारियों / अनुभागों को निर्देशित किया जाता है कि उपर्युक्त जाँच बिन्दुओं का अनुपालन प्रभावी एवं कड़ाई से करें |

                                                                       प्राचार्य

 

 

 

 

                                 

 
New Session 2019-20 has been started from 1 April with great zeal & enthusiasm.                  
KVS RO | KVSANGATHAN | CBSE | NCERT | Admission Guidellines | Transfer Policy | Sakshat | Shiksha | CBSE Norms of Affiliation | Annual Report
Copyright 2016, KV Shikar,DBN
Visitor No.